Don’t Walk Blindly

Vivekanand-Hindistatus-com

कोई व्यक्ति कितना ही महान क्यों न हो,
आँखें मूंदकर उसके पीछे न चलिए।
यदि ईश्वर की ऐसी ही मंशा होती तो
वह हर प्राणी को आँख, नाक, कान, मुंह
और मस्तिष्क आदि क्यों देता ?
                                ~ विवेकानंद


Post Comment

one × 2 =

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)