Broken Toys were Better

Childhood-is-Better-Than-Maturity-Hindistatus

जब छोटे थे तब बड़े होने की बड़ी चाहत थी !
पर अब पता चला कि :
अधूरे एहसास और टूटे सपनों से,
अधूरे होमवर्क और टूटे खिलौने अच्छे थे !

Post Comment

18 − 16 =

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)